तेरे दर को छोड़ कर किस दर जाऊं मैं