Menu

परम पूज्य स्वामी सत्यपति जी परिव्राजक द्वारा स्थापित दर्शन योग महाविद्यालय आर्यवन रोजड के प्रतिरूप शाखा दिनांक 30-11-2015 को स्वामी विवेकानन्द जी परिव्राजक,स्वामी ब्रहमविदानन्द  जी सरस्वती आदि अनेक साधू महात्मा के उपस्थिति में स्वर्गीय श्री आचार्य बलदेव जीके करकमल से उद्घाटन किया गया ।

दर्शन योग धर्मार्थ ट्रस्ट द्वारा संचालित यह दर्शन योग महाविद्यालय महात्मा प्रभु आश्रित कुटिया,सुंदरपुर,रोहतक में पूज्य स्वामी विवेकानंद जी परिव्राजक निर्देशन में आचार्य श्री नवानन्द जी, पूज्य स्वामी श्री आशुतोष जी परिव्राजक, श्री निगम मुनि जी विद्यालय के अध्यापन आदि सभी कार्यों का संचालन कर रहे हैं ।

गुरुकुल की प्रवेश सूचना - क्लिक करे

गुरुकुल के गुरुजनों का सन्देश :-

ओ3म्
वेद विचार-
ईश की सत्यनिष्ठ आराधना में ही जीवन यज्ञ सुरक्षित रूप से चल ता है , जिसमे दिव्य गुणों का निरंतर विस्तार होता है, मानस संग्राम में स्थिर विजय प्राप्त होती है , आवश्यक धनादि साधन- उत्तम स्वास्थ्य  भी सहजता से उपलब्ध होते है ।।

-स्वामी आशुतोष जी परिव्राजक (दिनांक- ०५/०७/२०१७)